खुबानी (एप्रीकॉट) के फायदे और नुकसान – Apricot Benefits and Side Effects in Hindi

apricot in Hindi

विषय सूची

उपक्षेप – Introduction

खुबानी (apricot) या एप्रीकॉट एक बीज युक्त फल होता  है। और इसकी खास बात ये है कि खुबानी को कच्चा और सूखे मेवे (apricot dry fruit) दोनों रूपों में खाया जा सकता है। खुबानी पौष्टिकता से  भरपूर होने के कारण खुबानी के फायदे भी स्वास्थ्य की  दृष्टि से बहुत लाभदायक होते हैं। आपको यह जानकर काफी हैरानी होगी  कि आयुर्वेद में खुबानी का प्रयोग औषधि के रूप में बहुत मात्रा में की जाती है। खुबानी ड्राई फ्रूट्स के बारे में बहुत कम ही लोग जानते हैं लेकिन इसके काफी फायदे हैं। इसमें विटामिन ए, बी ,सी और विटामिन ई पाए जाते हैं। विटामिन के साथ-साथ इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, फास्फोरस आदि भी होता है। खुबानी फाइबर का भी काफी अच्छा सोर्स है।यह भारत के पहाड़ी क्षेत्रों जैसे कश्मीर, हिमाचल प्रदेश आदि में उगाया जाता है।

सूखी खुबानी को भारत के पहाड़ी इलाकों में बादाम, अखरोट और न्योज़े की तरह खुबानी को एक ख़ुश्क मेवा समझा जाता है और काफ़ी मात्रा में खाया जाता है। कश्मीर और हिमाचल के कई इलाकों में सूखी खुबानी को किश्त या किष्ट कहते हैं। माना जाता है के कश्मीर के किश्तवार क्षेत्र का नाम इसलिए पड़ा क्योंकि प्राचीन काल में यह जगह सूखी खुबनियों के लिए प्रसिद्ध थी।

खुबानी के प्रकार – Varieties Of Apricot In Hindi

खुबानी  को  पौष्टिक नाश्ते के रूप में खाया जाता है। मसालेदार व्यंजनों के साथ खुबानी की चटनी के चटकारे के मजे भी  लोग लेते हैं। खुबानी की एक नहीं, बल्कि कई किस्म होती हैं। खुबानी कई रंगों में आती है, जैसे सफेद, काले, गुलाबी और भूरे (ग्रे) रंग। रंग से खुबानी के स्वाद पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, लेकिन इसमें जो कैरोटीन होता है, उसमें जरूर अंतर आ जाता है। भारत में खुबानी पंजाब तथा उत्तर-पश्चिम भारत में लगभग 3000 मी की ऊँचाई तक पाया जाता है। कुछ इस प्रकार होती है खुबानी की किस्में  

·  सूखी खुबानी (dried apricot) के लिए बेहतर किस्म : मूर पार्क, ट्रेवेट, स्टोरी, हंटर और रिवरब्राइट।

·  ताजा खुबानी (fresh apricots)के लिए बेहतर किस्म : मूरपार्क, ब्लेनहेम, अर्लीकोट, सुपर गोल्ड और कैटी ताजा खाने के लिए अच्छी किस्म मानी जाती हैं।

·  भारत में मिलने वाली खुबानी की आम किस्म : वैसे तो विदेशों से कई तरह की खुबानी की किस्म एक्सपोर्ट होकर भारत पहुंचती हैं, लेकिन यहां हलमन (Halman) और राकचिकारपो (Rakchaikarpo) की ज्यादा पैदावार होती है।

खुबानी के अन्य भाषाओं में नाम – Name of Jardalu or Apricot in Different Languages

खुबानी का वानास्पतिक नाम Prunus armeniaca Linn. (प्रूनस् आरमीनिआका) है और यह Rosaceae (रोजेसी) कुल का होता है। खुबानी को अंग्रेजी में Apricot (एप्रीकॉट) कहते हैं। इसके अलावा भारत के विभिन्न प्रांतों में खुबानी को और भी नामों से पुकारा जाता है।

खुबानी में काफी  पोषक तत्व होते हैं और इसमें कई तरह की जरूरी विटामिन और मिनरल्स होते हैं। रिसर्च  के अनुसार, सिर्फ 2 फ्रेश एप्रिकॉट्स (70 ग्राम) में निम्न पोषक तत्व पाए जाते हैं-

·  कैलोरी: 34

·  कार्ब्स: 8 ग्राम

·  प्रोटीन: 1 ग्राम

·  फैट: 0.27 ग्राम

·  फाइबर: 1.5 ग्राम

·  कार्बोहाइड्रेट – 11.12 ग्राम

·  शुगर – 9.24 ग्राम

·  विटामिन-बी 6 – 0.24 मिलीग्राम

·  विटामिन सी – 10 मिलीग्राम

·  विटामिन ई – 0.89 मिलीग्राम

·  विटामिन- के – 3.3 माइक्रोग्राम

·  कैल्शियम – 13 मिलीग्राम

·  मैग्नीशियम – 10 मिलीग्राम

·  फास्फोरस – 23 मिलीग्राम

·  पोटैशियम – 259 मिलीग्राम

·  सोडियम – 1 मिलीग्राम

इसके अलावा, यह फल बीटा कैरोटीन, ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन का एक अच्छा स्रोत है। ये सभी पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट हैं जो आपके शरीर को फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं।

खुबानी का प्रयोग – Use of Apricots in Hindi

खुबानी की प्यूरी को वसा के विकल्प के तौर पर प्रयोग कर सकते हैं। इसकी प्यूरी आलूबुखारे की प्यूरी की तरह बहुत गहरे रंग की नहीं होती और न ही सेब की प्यूरी की तरह जल की अधिकता वाली ही होती है। खुबानी का उद्गम उत्तर पश्चिम के देशों विशेषकर अमेरिका का माना जाता है। कुछ समय बाद यह फल तुर्की पहुंचा। इस समय वहां खुबानी की पैदावार सबसे ज्यादा होती है। खुबानी का रंग जितना चमकीला होगा, उसमें विटामिन-सी और ई और पोटेशियम की मात्रा उतनी ही अधिक होगी। सूखी खुबानी में ताजी खुबानी की तुलना में 12  गुना लौह, सात गुना आहारीय रेशा और पांच गुना विटामिन ए होता है। सुनहरी खुबानी में कच्चे आम व चीनी मिला कर बहुत स्वादिष्ट चटनी बनती है। खुबानी का पेय भी बहुत स्वादिष्ट होता है, जिसे ‘एप्रीकॉट नेक्टर’ कहते हैं।[

इसके अलावा, एक अन्य अध्ययन से पता चला है कि खुबानी के बीज के अंदर का खाद्य हिस्सा यानी कर्नेल के अर्क में पेक्टिन (Pectin) फाइबर होता है। इसे अल्सर की समस्या से बचाव करने के लिए प्रभावी माना गया है। इतना ही नहीं, एक शोध में इस बात की भी पुष्टि हुई है कि कर्नेल अर्क में एंटी-अल्सरेटिव और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो अल्सर और उसकी वजह से होने वाली सूजन को कम कर सकते हैं।

 खुबानी खाने का सही तरीका  – The Right Way To Consume Apricots in Hindi

 खुबानी के लाभों को प्राप्त करने के लिए आपको खुबानी (apricot) खाने का सही तरीका पता होना चाहिए। आप फल के रूप में इसका सेवन सुबह या दोपहर किसी भी समय कर सकते है। खुबानी खाने के लिए आप  नीचे दिए गए तरीके से इसका उपयोग कर सकते है।

·  आप सूखी खुबानी या इसके बीजों का सेवन भी कर सकते है।

·  खुबानी धोकर ऐसे ही फल की तरह खाएं।

·  सलाद के रूप में खुबानी खाएं

·  इसको दही या दलिया के साथ खाएं।

·  मिल्क शेक के साथ पियें।

 खुबानी के फायदे – Benefits of Apricots in Hindi

खुबानी के कई सारे फायदे हैं। खुबानी डायबिटीज़ में भी काफी  फायदा करता है। इसके इतने सारे फायदे हैं कि अगर आप इसे अपनी रोज क्र खान पान में शामिल कर लेते हैं तो आंखों की रोशनी बढ़ने से लेकर कैंसर जैसी बड़ी बीमारियाँ तक दूर हो सकती हैं।  इसको प्रतिदिन 5 पीस ही आपको खान होगा। इसे आप खाली पेट या सुबह के नाश्ते के साथ खा सकते हैं। दोनों  तरह खाने से यह फायदा करता है।

खुबानी कई डाइजेशन से संबंधित  बीमारियों  और बवासीर की समस्या को  दूर करने में भी लाभकारी है। खुबानी से कॉलेस्ट्रॉल कंट्रोल होता हैं। इसको खाने से स्किन में  की चमक बढ़ती है और ग्लो आता है। खुबानी खाने से कील, मुंहासे, स्किन इंफेक्शन आदि की समस्या भी दूर हो सकती है । यह  बाजारों में आसानी से उपलब्ध होता  है। खुबानी दूसरे ड्राईफूट्स की तुलना में  काफी सस्ता भी होता है।कभी- कभी ठंड लगने पर कान में दर्द होने लगता है। खुबानी कान के दर्द से राहत दिलाने में लाभकारी होता है। 1-2 बूंद खुबानी के बीज का तेल कान में डालने से कान के दर्द से राहत मिलती है।

खूबानी का उपयोग हृदय को रखता है स्वस्थ्य – Khubani for Heart in Hindi

 दिल को स्वस्थ रखने के लिए खुबानी काफी लाभदायक  फल माना जाता है। कई रिसर्च   में पाया गया है कि जो लोग विटामिन C से समृद्ध खाद्य पदार्थ खाते हैं उनमें हृदय रोगों का खतरा बहुत कम होता है। खुबानी में फाइबर (dietary fibre) की काफी उच्च मात्रा मिलती  है जिससे धमनियों में अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) को दूर करने में काफी मदद मिलती  है जिससे हृदय पर पड़ने वाला दबाव कम होता है। इसके अलावा यह ऑक्सीकरण से कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन की रक्षा करता है और हृदय को अन्य हृदय रोग जैसे कि हार्ट अटैक और स्ट्रोक (heart diseases and stroke) के खतरे को रोकता है। खुबानी में पोटेशियम (Potassium) पाया जाता है जो की रक्त वाहिकाओं और धमनियों के तनाव को आराम देकर रक्तचाप को नियंत्रित करने का कार्य करता है जिससे रक्तचाप को नियंत्रित किया जाता है।

खुबानी का जूस बुखार में है लाभदायक  – Apricot juice for fever in hindi

बुखार को ठीक करने के लिए, खुबानी के रस का उपयोग लाभदायक माना जाता है। क्योंकि इसमें पाए जाने वाले विटामिन और पोषक तत्व के साथ साथ इसकी एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टी के कारण शरीर के तापमान को कम करने में मदद मिलती है। जिससे बुखार में इसका उपयोग  करने से बुखार को जल्दी ही ठीक किया जा सकता है। खुबानी के रस का उपयोग पानी के साथ मिलाकर करना चाहिए इसके लिए आप खुबानी के रस को निकालकर पानी में मिला लें और उसमें एक बड़ा चम्मच शहद को मिलाएं। इसे दिन में 2 बार पीएं इससे ठंड से हुई खांसी और बुखार को राहत प्राप्त हो सकती है।

आंखों के लिए फायदेमंद है खुबानी – Apricot For Eyes in Hindi

खुबानी  में कई विटामिन होते हैं जैसे विटामिन A और विटामिन E जो कि आंखों को  स्वस्थ रखने के लिए काफी फायदेमंद हैं। विटामिन A  रतौंधी (Night blindness) को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जो कि आंखों में लाइट पिगमेंटेशन की कमी के कारण होने वाला डिसऑर्डर है। साथ ही विटामिन  E एक फैट सॉल्युबल एंटीऑक्सीडेंट है जो आपकी आंखों को फ्री रेडिकल्स से डैमेज होने में काफी मदद करता है।

सामान्य ऑक्सीजन लेवल के लिए फायदेमंद है खुबानी – Dried Apricots Increases Oxygen Level In Hindi

खुबानी खाने से  कई फायदे हैं जैसे शरीर में ऑक्सीजन के लेवल को सही रखता है। क्योंकि खुबानी में आयरन की मात्रा काफी सही होती  है जो शरीर में ग्लोबिन को बनाये रखने में  मदद करता है जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन को लेकर जाता है। खुबानी के फायदे से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ जाती है जिससे शरीर की सभी अंग अच्छे से काम करते हैं।

खुबानी पाचन में होती है सहायक

वजन और पाचन तंत्र एक-दूसरे पर निर्भर करते हैं। यह आपके पाचन   के लिए बेहतर तरीके से काम  करने के लिए बहुत जरूरी है। स्वस्थ पाचन तंत्र आपके स्वास्थ्य के लिए काफी जरूरी माना जाता है। यदि आपका पाचन तंत्र सही और  सुचारू रूप से काम नहीं करता, तो पोषक तत्वों का आपके शरीर पर प्रभावी रूप से नहीं पहुंच पाते, जिससे पाचन धीमा हो जाता है। चयापचय में गड़बड़ी के कारण शरीर में स्वस्थ आहार और एक्‍सरसाइज के परिणाम सही रूप से नहीं दिखाई देते। चूंकि, खुबानी में फाइबर उच्च मात्रा में पाया जाता है, जो वजन कम करने के साथ पेट संबंधी समस्याओं को दूर करने में भी मदद करती है।

समान्य ब्लड प्रेशर में खुबानी के फायदे – Dried Apricots Benefits May Regulates Blood Pressure In Hindi

सुखी खुबानी मैग्नीशियम मौजूद होता है जिसके कई सारे फायदे होते हैं। मैग्नीशियम ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखने में काफी  मददगार है। खुबानी खाने से शरीर में  मैग्नीशियम की सही मात्रा बनी रहती है जिससे ब्लड वेसल्स में सूजन कम होने में मदद मिलती है। यह धमनियों पर एक पतला प्रभाव डालती है जिससे खून का बहाव सही तरीके से  होता है और ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखने में काफी कारगर होता है।

खुबानी अल्सर में फायदेमंद है  – Apricot For Ulcer in Hindi

खुबानी का उपयोग अल्सर की समस्या  में काफी लाभदायक हो सकता है। असल में खुबानी एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant)  से युक्त होती है। यह फ्री-रेडिकल्स के प्रभाव को कम कर सकती है। फ्री-रेडिकल्स यानी मुक्त अणु शरीर में अल्सर को बना सकते हैं। इसी वजह से माना जाता है कि खुबानी का एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव अल्सर से बचा सकता है।

 सांस से जुड़ी बीमारी में फायदेमंद है खुबानी – Dried Apricots Improves Respiratory Health In Hindi

इससे पहले यही बताया गया है कि खुबानी खाने से सही मात्रा में मैग्नीशियम मिलता है। मैग्नीशियम खाने से मांसपेशियों और तंत्रिकाओं (nerves) में आराम मिलता है। इसमें एंटी- इंफ्लामेट्री की खूबी होती है जिससे सांस से जुड़ी बीमारी होने के आसार कम हो जाते हैं। खुबानी खाने के फायदे से सेल में सूजन नहीं आती है जिससे सांस लेने में आसानी मिलती है।

विटामिन K की मिलती है भरपूर मात्रा – Dried Apricots Are Rich In Vitamin K In Hindi

 विटामिन हमारे शरीर के सभी अंगों के लिए बहुत जरूरी है।  विटामिन K से भी खुबानी के फायदे जुड़े हुए हैं। विटामिन K (Vitamin K) का सेवन करने से शरीर में प्लेटलेट की संख्या बढ़ जाती है और सही मात्रा में रहती है । खुबानी खाने से चोट लगने पर खून का बहाव ज्यादा नहीं होता है।

रूखी त्वचा के लिए लाभदायक  है  खुबानी – Uses of Apricot to Treat Dry skin in Hindi

आजकल बाहर के प्रदूषण और खान-पान में असंतुलन का असर सबसे ज्यादा त्वचा पर होती है। खुबानी तेल के प्रयोग से त्वचा का रूखापन कम होकर कोमल भाव आता है। खुबानी तेल की मालिश करने से शारीरिक दुर्बलता,  तथा जोड़ों के दर्द में भी लाभ होता है।

आंखों के लिए लाभदायक  है खुबानी – Dried Apricots Are Good For Eyesight In Hindi)

खुबानी में मौजूद विटामिन के आंखों (Eyes) के लिए काफी लाभदायक  है । यदि सही मात्रा में खुबानी खाया जाए  तो कई सारे फायदे हो सकते हैं जैसे कि इसमें मौजूद विटामिन ए और के आंखों को स्वस्थ रखने में काफी मददगार  हैं । आंखों में सही मात्रा में खून का बहाव होने से आंखों की मांसपेशियां स्वस्थ रहती हैं जिससे बढ़ती उम्र में होने वाली आंखों की बीमारी जैसे कि मोतियाबिंद (cataracts) होने से बचा जा सकता है ।

 वजन काम करने में लाभदायक है सूखी खुबानी   – Dry Apricot for Weight Loss in Hindi

वजन (weight) कम करने के लिए खाने में कम कैलोरी (Calorie) का होना आवश्यक होता है। खुबानी में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है जो आपके वजन को कम करने  में आपकी काफी मदद करती है।   100 ग्राम खुबानी खाने में आपको केवल 45 कैलोरी ही प्राप्त होती है और इसमें अघुलनशील फाइबर (insoluble fibre) की मात्रा काफी अधिक होती है जो कि हमारे शरीर में पानी के अवशोषण को बढ़ाता है। जिससे पेट लंबे समय तक भरा रहता है और आपको भूख कम लगती है इसलिए वजन कम करने के लिए खुबानी  काफी फायदेमंद और लाभकारी है।

झुर्रियां कम करने में लाभदायक है खुबानी – Khubani Benefits for Wrinkles in Hindi

 प्रतिदिन  खुबानी का प्रयोग करने से त्वचा में कसाव  बना रहता  है। क्योंकि खुबानी में विटामिन ए पाया जाता है जो कि वृद्धावस्था (Old age) के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। इसके लिए आप खुबानी का सेवन करने के साथ साथ इसका उपयोग अपने चेहरे पर पेस्ट के रूप में भी कर सकते  हैं जिससे आपको काफी  लाभ  होगा और झुर्रियों (Wrinkles) को कम करने में भी मदद मिलेगी।

त्वचा के लिए फायदेमंद है खुबानी – Dried Apricots Benefits Promotes Skin Health In Hindi

सुखी खुबानी के फायदे इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट से भी जुड़े हुए हैं क्योंकि एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant ) फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करता है। फ्री रेडिकल शरीर को नुकसान पहुंचाने का काम करते हैं। अगर डाइट में सही मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद हैं तो यह फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करेंगे। ऐसा होने से त्वचा सेहतमंद रहेगी और फ्री रेडिकल से बचाव रहेगा।

खुबानी के नुकसान – Side Effects of Apricots in Hindi

 आपको बता दें की खान पान के अपने अलग अलग फायदे और नुकसान हैं  और आप किसी भी खाने की चीज़ को अपनी डाइट में शामिल  करने से पहले इससे जुड़े फायदे और नुकसान की जानकारी प्राप्त कर लें। खुबानी के फायदे हम आपको ऊपर बता चुके हैं अब बारी खुबानी के नुकसान से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने की। खुबानी खाने के नुकसान की जानकारी आप नीचे से प्राप्त कर सकते हैं। आपको बता दें कि खुबानी के बीज में जहरीला रसायन ‘साइनाइड’ का उच्च स्तर पाया गया है। यह रसायन मनुष्य के लिए जानलेवा हो सकता है।

·  कुछ लोगों को खुबानी खाने से एलर्जी की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

·  सूखे खुबानी में एक जहरीले पदार्थ सल्फाइड की मात्रा पाई जाती है सल्फाइड का स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है इसलिए अधिक मात्रा में सूखे खुबानी खाने से बचना चाहिए।

·  दमा के शिकार व्यक्तियों को सुखी खुबानी का सेवन करने से बचना चाहिए।

·  मधुमेह रोगियों को सुखी खुबानी का सेवन नहीं करना चाहिए।

·  गर्भावस्था के समय खुबानी का सेवन अधिक मात्रा में नहीं किया जाना चाहिए।

·  खुबानी का अधिक मात्रा में सेवन निम्न रक्तचाप से संबंधित व्यक्तियों पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

·  ऊपर आपने जाना खुबानी खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ के बारे में एक निश्चित मात्रा में खुबानी खाने के बहुत अधिक फायदे हैं इसलिए इसका सेवन लाभदायक होता है क्योंकि खुबानी में पोषक तत्वों की एक लंबी श्रृंखला पाई जाती है। जिसमें बीटा कैरोटीन (beta-carotene) Vitamin A, C, E, and K भी पाया जाता है।

·  इसके अलावा यह खनिज तत्वों में लोहे पोटेशियम मैग्नीशियम फास्फोरस मैग्नीशियम से पोषक तत्वों से भरपूर होता है इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट और डाइटरी फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है जो कि स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत ही उपयोगी होता है।

इन बातों का रखें ध्यान

बाजार से खुबानी खरीदने से पहले इस बात का खास ध्यान रखें कि उसमें हानिकारक तत्व जैसे कि सल्फर डाइऑक्साइड तो नहीं मिलाया गया है। हर ड्राई फ्रूट में यह कम मात्रा में पाया जाता है। सही मात्रा में ड्राई फ्रूट का सेवन करने से यह शरीर को नुकसान नहीं देता है लेकिन अगर इसकी मात्रा ज्यादा हो गई तो यह नुकसान दे सकता है। आपको यह सलाह दी जाती है कि अगर आप सांस की बीमारी से गुजर रहे हैं तो इससे दूर रहें क्योंकि सल्फाइड (Sulfide) से आपको नुकसान हो सकता है। ऐसा होने से आपको सांस लेने में बीमारी या फिर एलर्जी हो सकती है।

 निष्कर्ष – Conclusion

इस लेख में  हमने खुबानी  के बारे  में बहुत सी जानकारी दी। खुबानी के फायदे स्वास्थ्य लाभ और उपयोग की जानकारी में यह लेख काफी मददगार साबित होगा। 

·  खुबानी से संबंधित इस लेख में हर संभव जरूरी जानकारी शामिल की गई है।

·  इसमें खुबानी क्या है। इसके लाभ और नुकसान के बारे में भली-भांति  बताया गया है।

·  इसमें पाए जाने वाले औषधीय गुण, तथा कौन-कौन से बीमारी में किस प्रकार लाभ मिलता है इससे जुड़ी सारी जानकारी इसमें दी गयी है। 

·  इसके उपयोग विधि एवं मात्रा के बारे में भी सारी जानकारी दी गयी   है।

·  यदि आप पूरा लेख पढ़े हैं। तो आप खुबानी का सेवन जरूर करना चाहिए ।

·  खुबानी का सेवन करने से पहले लेख में दी गई सारी जानकारी को अच्छी तरह से पढ़ लें   ।

·  खुबानी का सेवन आपको एक स्वस्थ शरीर को बनाए रखने में  काफी मददगार साबित हो सकता है।

·  खुबानी का सेवन जरूर करें।

मुझे आशा है कि आपको मेरा यह लेख बहुत पसंद आया होगा और आपको यह उपयोगी लगा होगा। यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे आप अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर सकते हैं । और हाँ अगर कोई टॉपिक छूट गया हो या फिर आपका कोई सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। हम उस पर अमल करने की पूरी कोशिश करेंगे ।

संदर्भ – References

Jana Kopčeková 1, Anna Kolesárová 2, Anton Kováčik 3, Eva Kováčiková 4, Martina Gažarová 1, Peter Chlebo 1, Jozef Valuch 5, Adriana Kolesárová 3 on Influence of long-term consumption of bitter apricot seeds on risk factors for cardiovascular diseases [1]

Helen M Rasmussen and Elizabeth J Johnson on Nutrients for the aging eye [2]

Team Zotezo
We are a team of experienced content writers, and relevant subject matters expert. Our purpose is to provide trustworthy information about health, beauty, fitness, and wellness related topics. With us unravel chances to switch to a balanced lifestyle which enables people to live better!

Leave a Comment

ZOTEZO IN THE NEWS

...