ब्लूबेरी के प्रकार, फायदे, और नुकसान – Blueberry Types, Benefits, and Side Effects in Hindi

blueberry

विषय सूचि

उपक्षेप – Introduction

फल हमारे सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। फल में ऐसे तत्व होते हैं जो हमारे शरीर को स्वस्थ्य रखने में महत्वपूर्ण योगदान निभाते हैं।  हम आज बात करेंगे ब्लूबेरी  फल की।  ब्‍लूबेरी एक बहुत ही स्‍वादिष्‍ट फल है जो स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी कई सारी समस्‍याओं को दूर करने में काफी मददगार  होता है। ब्‍लूबेरी एंटीऑक्‍सीडेंट और फाइटोन्‍यूट्रिएंट्स का काफी अच्‍छा स्रोत है। ब्‍लूबेरी खाने के कई सारे फायदे  होते  हैं साथ ही साथ  ब्‍लूबेरी का  जूस भी काफी फायदेमंद  होता है  जो आपके स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देते हैं। ब्लूबेरी  की खेती ज़्यदातर  उत्तर अमेरिका, एशिया एवं यूरोप में की जाती है। लेकिन इसकी बढ़ती मांग को देख कर इसका दुनिया  के उत्पादन का 95% हिस्सा कनाडा  और अमेरिका कर रहे है।   इसका ताजा फल बेहद रसदार, मीठा और स्वास्थ के लिए काफी फायदेमंद और असंख्य गुणों से भरा होता है, अब इसकी खेती पुरे वर्ष की जाती है।

उच्च ब्लूबेरी  प्रमुख रूप से उत्तरी अमेरिका में पाए जाते है, पर इसकी खेती विश्व में सभी देशों में  की जाती है और इसकी कई प्रकार की प्रजाती उपलब्ध है, पिछले कुछ सालो में इसकी मांग पुरे विश्व में बहुत अधिक हो गई है ,इसके लिए इसका उत्पादन भी कुछ वर्षो में पुरे विश्व में बहुत उच्चस्तर पर होने लगा है। ब्लूबेरी का उत्पादन  कई देशो में किया जाता है जैसे जर्मनी,निदरलेंड,मेक्सिको, फ्रेंस,स्पिन, स्वीडन, न्यूज़ीलैण्ड आदि।   इसका सबसे अधिक उत्पादन संयुक्त राज्य अमेरिका में किया जाता है, सालाना लगभग 240 हजार टन का उत्त्पादन किया जाता है।  इस उत्त्पादन का आधा हिस्सा बाज़ार में भेजा जाता है ताकि इस ताजा फल को खाने में  प्रयोग किया जा सके।  शेष आधे हिस्से को फ्रोजन कर सुखा कर डिब्बा बंद कर स्टोर किया जाता है। ब्‍लूबेरी  कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने, हृदय को स्‍वस्‍थ रखने, शुगर  को नियंत्रित करने और रक्‍तचाप संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में  काफी सहायक  होता है । हालांकि ब्‍लूबेरी के कई सारे  साइड इफेक्‍ट भी आपके स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित कर सकते हैं। ब्‍लूबेरी को खाने से पहले इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें हम इस आर्टिकल में आपको  ब्‍लूबेरी के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारियां देंगे। आइए जाने ब्‍लूबेरी के बारे में।

ब्लूबेरी क्या है – What is Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी को हिंदी में नील बदरी कहा जाता है।  यह एक नीले रंग का फल होता है जो कि आकार में गोल और छोटा होता है। ब्‍लूबेरी का पौधा एक बारहमासी फूलों वाली झाड़ी है जिसमें ब्‍लूबेरी के फल गुच्‍छों के रूप में फलते हैं। ब्‍लूबेरी का पौधा बिलवेरी, क्रेनबेरी और गोजबेरी के परिवार से संबंधित होता है। ब्‍लूबेरी का फल बहुत ही स्वदिष्ट होता हैं स्वाद में यह खट्टा मीठा होता है। ब्लूबेरी में एक नहीं  कई सारी औषधीय के गुण पाए जाते हैं, और यह स्वास्थ के लिए बहुत ही लाभदायी होता  ब्‍लूबेरी का वैज्ञानिक नाम वैक्‍सीनियम कोरिम्‍बोसम (Vaccinium corymbosum) है। इसमें कई प्रकार के विटामिन्स पाए जाते है जो कि कई बीमारियों से लड़ने में काफी मददगार होते हैं। ब्लूबेरी  स्वास्थ, त्वचा, और बालो के लिए काफी गुणकारी है यह मुख्य रूप से उत्तरी गोलार्ध में पाई जाती है।  ब्लूबेरी में एंटी-ऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है, जो कई बीमारियों से बचाव और उनकी रोकथाम में मददगार होती  है।

ब्लूबेरी के प्रकार – Types of Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी एक ग्रीष्मकालीन फसल है, जो एरिकेसी (Ericaceae) नामक पौधे के परिवार से संबंध रखता है। ब्लूबेरी के मुख्य रूप से दो परिवार हैं, जिनमें में तीन अलग-अलग प्रकार के ब्लूबेरी शामिल हैं :

रेबिटआई ब्लूबेरी (Rabbiteye Blueberry Bush):  इसमें प्रीमियर, टिफब्लू और पाउडरब्लू प्रकार की बेरीज शामिल होती हैं।

हाईबश ब्लूबेरी (Highbush Blueberry Bush):  यह बेरी जल्द ही पक जाती है और ठंड को सहन कर सकती हैं। इसमें क्रोएशिया, जर्सी और मर्फी ये तीन प्रकार की बेरीज शामिल हैं।

ब्लूबेरी  के फल गुच्छे नुमा होते है, और इसके पौधे का आकर झुग्गी की तरह होता है यह 10 सेंटीमीटर से चार मीटर की ऊंचाई के होते है। इसके पत्ते का आकार ओवल शेप का होता है, और 1 से 8 सेंटीमीटर लम्बा और आधे से साढ़े तीन सेंटीमीटर तक चौड़ाई की हो सकता है इ.सके फूलो का आकर कटोरी के सामान होता है और फूलो का रंग सफ़ेद पिला, लाल या पिंक हो सकता है, इसके फल का आकार छोटा और गोल होता है और स्वाद में खट्टा मीठा होता है।  जब यह फल कच्चा होता है तब इसका रंग पिला हरा होता है उसके बाद लाल बेंगनी और पकने पर गहरे काले और गहरे बेंगनी रंग का हो जाता है।

ब्लूबेरी के उपयोग के तरीके – Uses of Blueberry in Hindi

  • ब्लूबेरी को धोकर सीधा भी खा सकते हैं।
  • ब्लूबेरी का जैम के रूप मेें उपयोग कर सकते हैं।
  • ब्लूबेरी के गेम को रोटी या फिर ब्रेड में लगाकर नाश्ते के रूप में सेवन किया जा सकता है।
  • ब्लूबेरी को अन्य फलों के साथ मिलाकर सलाद के रूप में सेवन कर सकते हैं।
  • ब्लूबेरी को स्मूदी के रूप में भी प्रयोग कर सकते हैं।
  • ब्लूबेरी को केक के ऊपर लगाकर भी केक का स्वाद कई गुना बढ़ा सकते हैं।
  • गर्मी के मौसम में Blueberry की आइसक्रीम का सेवन कर सकते हैं।

ब्लूबेरी के पोषक तत्त्व – Nutritional Values of Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी में पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर होने के कारण यह सर्वगुण फल माना गया है।ब्लूबेरी में कैलोरी की मात्रा कम होती है।फाइबर की मात्रा अच्छी पाई जाती है। ब्लूबेरी में विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन बी6, पोटेशियम कॉपर फोलेट अच्छी मात्रा में पाया जाता है।

पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम

  • पानी  84.21 ग्राम
  • कैलोरी 57 kcal
  • ऊर्जा  240 किलोजूल
  • प्रोटीन 0.74 ग्राम
  • फैट  0.33 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट  14.49 ग्राम
  • फाइबर 2.4 ग्राम
  • शुगर 9.96 ग्राम

मिनरल्स

  • कैल्शियम   6 मिलीग्राम
  • आयरन 0.28 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम 6 मिलीग्राम
  • फास्फोरस   12 मिलीग्राम
  • पोटैशियम   77 मिलीग्राम
  • सोडियम 1 मिलीग्राम
  • जिंक 0.16 मिलीग्राम
  •  कॉपर 0.057 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम 0.336 मिलीग्राम
  • सेलेनियम   0.1 माइक्रोग्राम

विटामिन

  • विटामिन सी 9.7 मिलीग्राम
  • थायमिन 0.037 मिलीग्राम
  • राइबोफ्लेविन 0.041 मिलीग्राम
  • नियासिन  0.418 मिलीग्राम
  • विटामिन-बी 6   0.052 मिलीग्राम
  • फोलेट 6 माइक्रोग्राम
  • कोलिन 6 मिलीग्राम
  • विटामिन-ए, RAE  3 माइक्रोग्राम
  • बीटा-कैरोटिन 32 माइक्रोग्राम
  • विटामिन-ए, आईयू 54 आईयू
  • विटामिन-ई  0.57 मिलीग्राम
  • विटामिन-के 19.3 माइक्रोग्राम

लिपिड्स

  • फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड 0.028 ग्राम
  • फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड  0.047 ग्राम
  • फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड 0.146 ग्राम

ब्लूबेरी के फायदे – Benefits of Blueberry in Hindi

ब्लूबेरी में विटामिन c पाया जाता है। विटामिन सी कोलेजन को बनाने में सहायक है। इसी गुण के कारण ब्लूबेरी डार्क सर्कल, झुर्रियां, मुहासे आदि को रोकता है और  त्वचा को अंदरूनी रूप से निखार दिलाता है। सूर्य की किरणों से भी त्वचा को नुकसान होने से बचाता है। त्वचा को ताजगी रूप देता  है।

ब्लूबेरी का सेवन लंबे समय तक जवां बनाएं रखता है। ब्लूबेरी का सेवन किसी भी मौसम में किया जा सकता है त्वचा के रंग को निखारने Pineapple  इन विधियों के साथ सेवन करे

मुंहासे दूर करने में मददगार

यदि आप चेहरे में मौजूद मुहांसों से परेशान हैं तो ब्लूबेरी का उपचार कर सकते हैं। बढ़ती उम्र के साथ-साथ चेहरे पर मुंहासे जैसी समस्या आ जाती है। त्वचा में मुंहासे त्वचा छिद्रों में मौजूद गंदगी, अतिरिक्त सेबम और बैक्टीरिया आदि के कारण होते हैं। ब्लूबेरी का सेवन करने से शरीर में कई पोषक तत्व खनिज पदार्थ और विटामिन की पूर्ति होती हैं। ब्लूबेरी मैं सेलिसीलेटस एसिड पाया जाता है। सैलिसिलिक एसिड मुहांसों के उपचार के लिए व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता है। ब्लूबेरी मृत त्वचा को हटाने की क्षमता रखते हैं। मुहांसों को दूर करने के लिए भी ब्लूबेरी पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है। Blueberry का फैसला पैक इस प्रकार से बना कर रख सकते हैं।

पाचन के लिए

पाचन क्रिया को मेंटेन रखने के लिए जरूरी है कि आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में फाइबर की पूर्ति हो। ब्लूबेरी में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है.  इसलिए फाइबर के अच्छे स्रोत खाद्य पदार्थ के रूप में आप ब्लूबेरी का सेवन कर सकते हैं जो आपको पेट से जुड़ी समस्याओं से बचे रहने के लिए काफी मदद करेगा। जो पेट दर्द गैस और पाचन को ठीक रखने में मदद कर सकता है।  जिन लोगों को पाचन की समस्या है उनके लिए ब्लूबेरी का इस्तेमाल करना फायदेमंद हो सकता है।

कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने फायदेमंद है

कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने के लिए ब्‍लूबेरी का उपयोग किया जा सकता है। आज की व्‍यस्‍त और खराब जीवनशैली के कारण अधिकांश लोग उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल संबंधी समस्‍याओं से ग्रसित हैं। उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल आज एक आम स्थिति हो गई है जो परिवार में किसी न किसी व्‍यक्ति को जरूर है। लेकिन शरीर में मौजूद उच्‍च कोलेस्‍टॉल के दौरान आपको लापरवाही नहीं करनी चाहिए। क्‍योंकि उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल हृदय संबंधी रोगों का प्रमुख कारण होता है। यदि आप भी उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने के उपाय खोज रहे हैं तो ब्‍लूबेरी एक अच्‍छा विकल्‍प है। कोलस्‍ट्रॉल को कम करने के लिए नियमित रूप से सप्‍ताह में 2 बार ब्‍लूबेरी का सेवन किया जाना चाहिए। यह आपके शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को नियंत्रित करता है।

आंखों के लिए

हम अपने आसपास की रंगीन दुनिया को अपनी आंखों के जरिए ही देख सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि हमारी आंखें स्वस्थ बनी रहें। इसके लिए ब्लूबेरी का सेवन काफी फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें विटामिन-ए की मात्रा पाई जाती है। यह विटामिन आंखों के स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक माना जाता है।

रक्तचाप को कम करने में मददगार

रक्तचाप को कम करने में Blueberry मददगार है। ब्लूबेरी में पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम तत्व पाए जाते हैं। यह सभी तत्व उच्च रक्तचाप को कम करने में सहायक है। ब्लूबेरी फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट के गुण से भी समाहित है। फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल को कम करने में आदर्श आहार माना गया है। रिसर्च के अनुसार साबित हुआ है कि ब्लूबेरी हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक है। ब्लूबेरी में पेटेरोसिटलबेन नाम का एक योगिक पाया जाता है जो कि कोशिकाओं द्वारा कोलेस्ट्रोल को तोड़ने में मदद करता है। कोलेस्ट्रोल को कम करने के लिए नियमित रूप से ब्लूबेरी का सेवन सप्ताह में दो बार करना चाहिए। नियमित रूप से सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की स्तर को नियंत्रित किया जा सकता है।

बालों की ग्रोथ के लिए

बालों की अच्छी ग्रोथ के लिए आपके बालों को बायोटिन नाम के विटामिन की जरूरत पड़ती है। इसके अलावा कुछ अन्य जरूरी मिनरल्स भी बालों के लिए काफी लाभदायक माने जाते हैं। इनकी पूर्ति आपको ब्लूबेरी के जरिए बड़ी आसानी से हो सकती है क्योंकि ब्लूबेरी में पौष्टिक तत्वों का भंडार छिपा हुआ है। वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार ब्लूबेरी का सेवन बालों को मजबूती देने के साथ-साथ डैंड्रफ की समस्या से भी बचाए रख सकता है।

मधुमेह में लाभदायक

मधुमेह के रोगी के लिए Blueberry benefits बहुत ही  लाभदायक है। ब्लूबेरी में फाइबर की मात्रा पाई जाती हैं। फाइबर मधुमेह के रोगी के लिए बेहद लाभदायी है। फल के साथ साथ ब्लूबेरी के पत्ते मधुमेह के लिए औषधि गुण का कार्य करते हैं। ब्लूबेरी के पत्तों में एंथोसियानीडीनस होता है यह मेटाबालिज्म क्रिया को सुचारू रूप से कार्य करने में सहायता प्रदान करता है। ग्लूकोस को शरीर के सभी अंगों तक पहुंचाने का कार्य करता है।जिसके कारण रक्त में शंकरा का संतुलन सही तरीके से बना रहे और मधुमेह के रोगी को इलाज में किसी तरह की परेशानी ना आए। मधुमेह रोगियों को ब्लूबेरी, सेब, किसमिस, अंगूर को सप्ताह में नियमित रूप से तीन बार सेवन करना चाहिए। यह सभी फल मधुमेह रोगी के लिए लाभकारी होता है। इन फल का सेवन करने से रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में आसानी होती है तथा इस रोग से बचा जा सकता है।

एंटी एंजिग के रूप में

ब्लूबेरी का सेवन बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। दरअसल वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार ब्लूबेरी में एंटी एजिंग प्रभाव पाया जाता है। यह बढ़ती हुई उम्र के असर को काफी हद तक कम करने के लिए सक्रिय रूप से कार्य करता है। इसलिए बढ़ती हुई उम्र में आप भी जवां दिखते रहना चाहते हैं तो ब्लूबेरी का सेवन कर सकते हैं।

मुंहासों को दूर करने के लिए

एंटी एक्ने डायट की बात करें तो उसमें ब्लूबेरी का जिक्र जरूर होता है। इसके साथ-साथ ब्लूबेरी में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी पाया जाता है जो त्वचा में होने वाली सूजन को कम करके चेहरे से मुंहासों की समस्या को खत्म करने के लिए काम कर सकता है। इसलिए जो लोग मुंहासों की समस्या से परेशान हैं, वे लोग ब्लूबेरी का सेवन करके इससे होने वाले फायदे का लाभ उठा सकते हैं।

वजन कम करने में मददगार

मोटापे की समस्या आज के समय में सबसे बड़ी समस्या बन गई। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोग अनेक तरीके अपनाते हैं, फिर चाहे उन्हे अपने फेवरेट खाने का त्याग करना ही क्यों ना हो? लेकिन परिणाम ये निकलता है कि इतना सब कुछ करने के बाद भी उन्हे कोई फर्क नहीं दिखता। अगर आप भी मोटापे की समस्या से निजात पाना चाहते हैं तो ब्लूबेरी का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। ब्लूबेरी में एन्थोसायनिन नामक तत्व पाया जाता है, जो मोटापे को कम करने में मददगार हो सकता है।

कैंसर में लाभदायक है

ब्लूबेरी कैंसर जैसी बीमारियों से बचाने में काफी हद तक हमारी मदद कर सकती है , क्योंकि इसमें टेरोस्टिलबिन नामक तत्व पाया जाता है जो कैंसर के खतरे से बचाने का काम कर सकता है। ब्लूबेरी  का नियमित सेवन करना चाहिए।

हड्डियों के लिए फायदेमंद है

ब्लूबेरी को पॉलीफेनॉल्स से समृद्ध माना जाता है।  जो हड्डियों को मजबूत बनाने में आपकी मदद कर सकता है।  हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए ब्लूबेरी का सेवन करना लाभदायक माना जाता है।

तनाव को रखता है दूर

आज के समय में अधिकांश लोग तनाव में रहते हैं क्योंकि उनकी बिजी लाइफस्टाइल फिर चाहे वह ऑफिस हो या घर इन सबकी वो टेंशन लेकर तनाव महसूस करता है।  तनाव को दूर करने के लिए ब्लूबेरी का सेवन करना काफी फायदेमंद माना जाता है।  क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट के गुण अच्छी मात्रा में  पाए जाते हैं जो तनाव को दूर करने में मदद कर सकते हैं।

ब्लूबेरी के नुकसान – Side Effects of Blueberry in Hindi

वैसे तो ब्लूबेरी फायदेमंद है, लेकिन अधिक मात्रा में किया गया इसका सेवन आपके लिए हानिकारक भी हो सकता है। अधिक ब्लूबेरी खाने से निम्न प्रकार के दुष्प्रभाव हो सकते हैं। कोई भी चीज जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करने पर बुरा असर होता है ,  उसी तरह ब्लूबेरी का भी जरूरत से अधिक सेवन स्वस्थ पे बुरा असर डाल सकता है।वैसे तो ब्लूबेरी के अनेक फायदे हैं जो हमने आपको उपर बताए हैं पर इसके कुछ नुकसान भी हैं जो इस प्रकार हैं –

एलर्जी (Allergy)

बहुत से लोगों को ब्लूबेरी से एलर्जी होती है जिसे खाने से उन्हें सांस लेने में तकलीफ, शरीर पर सूजन, खुजली और दूसरी प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे लोगों को ब्लूबेरी नहीं खाना चाहिए।

रक्त को पतला करता है

ब्लूबेरी में विटामिन K पाया जाता है जो रक्त को पतला करता है। रक्त विकार की बीमारियों से ग्रसित लोगों को ब्लूबेरी नहीं खाना चाहिए।

सेलिसीलेट संवेदनशीलता

ब्लूबेरी में सेलिसीलेट पाया जाता है। इससे कई लोगो को एलर्जी होती है इसके कारण सिर दर्द, गैस कब्ज की समस्या हो सकती है।

पाचन में परेशानी

ब्लूबेरी में कई सारे पोषक तत्व होते है जिनकी अधिक मात्रा होने पर शरीर को उन्हें पचाने में दिक्कत आती है। इसी वजह से ब्लूबेरी के ज्यादा सेवन से बचना चाहिए।

गर्भवती महिलाओ पर असर

गर्भवती महिलाओ के लिए यह एक अच्छा फल होता है, पर इसका अधिक सेवन करना हानिकारक हो सकता है।  इसमें कई ऐसे योगिक होते है जो कि गर्भवती स्त्री लिए बेहद फायदेमंद होते है परन्तु इसे सेवन करने से पूर्व डाक्टर से परामर्श लेने की सलाह दी जाती है।  गर्भवती महिला द्वारा लिया जाने वाला खाद्य पदार्थ उसके शिशु पर असर डालता है इसलिए डॉक्टर की सलाह ले कर ही आहार को लेना चाहिए।

निष्कर्ष – Conclusion

ब्लूबेरी हमारे स्वस्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं  ब्लूबेरी मार्केट में आसानी से उपलब्ध होता है मिलने वाले अन्य फलों की तुलना में थोड़ा ज्यादा महंगा होता है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद यह तो स्पष्ट हो गया कि ब्लूबेरी मतलब नीलबदरी के फायदे कई हैं। यह सेहत के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद यह तो स्पष्ट हो गया कि ब्लूबेरी मतलब नीलबदरी के फायदे कई हैं। यह सेहत के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है। मुझे आशा है कि आपको मेरा यह लेख बहुत पसंद आया होगा और आपको यह उपयोगी लगा होगा। यदि आपको यह लेख पसंद आया हो तो इसे आप अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और व्हाट्सएप पर शेयर कर सकते हैं । और हाँ अगर कोई टॉपिक छूट गया हो या फिर आपका कोई सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। हम उस पर अमल करने की पूरी कोशिश करेंगे ।

संदर्भ – References

Photo of Chetu Singhi
Chetu Singhi is a popular Nutritionist in Park Street, Kolkata. She has had many happy patients in her 4 years of journey as a Nutritionist. She has completed Diploma in Obesity Management & Clinical Medical Condition, Diploma in Dietetics, Health and Nutrition (DDHN), Diploma in Sports & Fitness, Certificate in Child Nutrition.

    Leave a Comment

    ZOTEZO IN THE NEWS

    ...