Flamese 1.16% Gel In Hindi

Medically reviewed by Dr. Naresh Dang | Written By Sonu Kumar Rao

अंतिम बार अद्यतन: November 02, 2020 8:51 pm

Read this article in: English

Flamese 1.16% Gel के उपयोग – Uses of Flamese 1.16% Gel in Hindi

Flamese 1.16% Gel का उपयोग आमतौर पर निम्नलिखित बीमारी (यों) के उपचार अथवा रोकथाम के लिए किया जाता है:

दर्द से राहत, गठिया

Flamese 1.16% Gel के साइड इफेक्ट्स – Side effects of Flamese 1.16% Gel in Hindi

आमतौर पर Flamese 1.16% Gel के सबसे सामान्य दुष्प्रभाव हैं – मतली, उल्टी, चक्कर आना, शुष्क मुँह, परिवर्तित स्वाद, पेट में दर्द, उत्तेजना, बुखार, कब्ज, एलर्जी, रिएक्शन, बिगड़ा हुआ एकाग्रता, पसीना, सिरदर्द

ये दुष्प्रभाव आमतौर पर रोगियों में हो सकते हैं। हालांकि, ये केवल सांकेतिक हैं और सभी मरीज़ इनका अनुभव नहीं करेंगे।

Flamese 1.16% Gel लेते समय सावधानियां – Precautions while Taking Flamese 1.16% Gel in Hindi

यदि आपको डिक्लोफेनाक (Diclofenac) से एलर्जी है तो Flamese 1.16% Gel का सेवन न करें।
यदि आपको हृदय रोग, जिगर या गुर्दे की बीमारी, ड्रग या शराब की लत है, तो Flamese 1.16% Gel का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।
यदि आपको किसी दवा या भोजन से एलर्जी है तो इस दवा को लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।
प्रतिकूल प्रतिक्रिया से बचने के लिए, अपने चिकित्सक से परामर्श करें यदि आप पहले से ही अन्य दवाएं ले रहे हैं।

Flamese 1.16% Gel कैसे काम करता है – How Flamese 1.16% Gel works in Hindi

Flamese 1.16% Gel में में शामिल है – डिक्लोफेनाक (Diclofenac)
डिक्लोफेनाक शरीर में एक पदार्थ की क्रिया को अवरुद्ध करके काम करता है जिसे साइक्लो-ऑक्सीजनेज़ (COX) कहा जाता है, डिक्लोफेनाक इन प्रोस्टाग्लैंडिन्स के उत्पादन को अवरुद्ध करता है और यह सूजन और दर्द को कम करता है।

Flamese 1.16% Gel की खुराक – Dosage of Flamese 1.16% Gel in Hindi

Flamese 1.16% Gel की खुराक कई कारकों पर निर्भर करती है जैसे कि रोगी की आयु, स्वास्थ्य, रोगी का चिकित्सा इतिहास और अन्य कई स्थितियां। कृपया इस दवा को अपने चिकित्सक द्वारा निर्धारित अनुसार लें।

Flamese 1.16% Gel का ओवरडोज – Overdose of Flamese 1.16% Gel in Hindi

यदि आप Flamese 1.16% Gel की एक खुराक लेना भूल जाते हैं, और अगली खुराक का समय लगभग निकट है, तो छूटी हुई खुराक को छोड़ दें और अपनी नियमित खुराक अनुसूची जारी रखें, एक ही समय में दो खुराक न लें इससे ओवरडोज का खतरा रहता है।

यदि आपको Flamese 1.16% Gel के साथ अधिकता (overdose) का संदेह है, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें, या अपने स्थानीय चिकित्सा आपातकालीन नंबर पर कॉल करें।

Flamese 1.16% Gel की कार्रवाई की शुरुआत – Onset of Action Flamese 1.16% Gel in Hindi

जानकारी अभी उपलब्ध नहीं, जल्द ही जानकारी जोड़ दी जाएगी।

Flamese 1.16% Gel की कार्रवाई की अवधि – Duration of Action Flamese 1.16% Gel in Hindi

जानकारी अभी उपलब्ध नहीं, जल्द ही जानकारी जोड़ दी जाएगी।

सावधानियाँ और चेतावनी

शराब

इस दवा को लेते समय शराब का सेवन न करें, इससे साइड इफेक्ट का खतरा बढ़ सकता है।

गर्भावस्था

गर्भवती महिलाओं के लिए अनुशंसित नहीं है, यदि आवश्यक हो तो इसे लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

स्तनपान

स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अनुशंसित नहीं है, यदि आवश्यक हो तो इसे लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

ड्राइविंग

इस दवा को लेने के बाद आपको नींद या चक्कर आ सकता है। इस दवा को लेने के बाद ऐसे किसी भी कार्य को करना सुरक्षित नहीं है जिसमे सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है, जैसे की ड्राइविंग या किसी मशीन को संचालित करना।

गुर्दा

इस दवा का उपयोग गुर्दे की बीमारी के रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। इस दवा को लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

जिगर

इस दवा का उपयोग यकृत/ जिगर रोग के रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। इस दवा को लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

Flamese 1.16% Gel In Hindi के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

जल्द ही जानकारी जोड़ दी जाएगी।

सहभागिता

ड्रग (Drug):- acetaminophen: लंबे समय तक समवर्ती उपयोग के साथ प्रतिकूल गुर्दे के प्रभाव का खतरा बढ़ जाता है।
anticoagulants, thrombolytics, Prolonged PT: रक्तस्राव का खतरा बढ़ जाता है।
antihypertensives: एंटीहाइपरटेन्सिव प्रभावशीलता में कमी।
aspirin, other NSAIDs, salicylates: जीआई चिड़चिड़ापन और रक्तस्राव में वृद्धि; डायक्लोफेनाक प्रभावशीलता में कमी।
beta blockers: बिगड़ा विरोधी प्रभाव।
cefamandole, cefoperazone, cefotetan, plicamycin, valproic acid: हाइपोप्रोथ्रोम्बिनमिया का खतरा बढ़ जाता है।
cimetidine: परिवर्तित रक्त डाइक्लोफेनाक स्तर।
colchicine, corticotropin long-term use, glucocorticoids, potassium supplements: जीआई चिड़चिड़ापन (GI irritability) और रक्तस्राव में वृद्धि।
cyclosporine, gold compounds, nephrotoxic drugs: नेफ्रोटॉक्सिसिटी का खतरा बढ़ जाता है।
digoxin: बढ़ा हुआ रक्त डाइऑक्साइडिन स्तर।
insulin, oral antidiabetics: इन दवाओं के प्रभाव में कमी।
lithium: लिथियम विषाक्तता का खतरा बढ़ जाता है।
loop diuretics: मूत्रवर्धक प्रभाव में कमी।
methotrexate: मेथोट्रेक्सेट विषाक्तता के बढ़ते जोखिम।
phenytoin: बढ़ा हुआ रक्त फ़िनाइटोइन स्तर
potassium-sparing diuretics: हाइपरकेलेमिया का खतरा बढ़ जाता है।
probenecid: डायक्लोफेनाक विषाक्तता में वृद्धि। खाना (Food):- भोजन: विलंबित-रिलीज़ गोलियों के विलंबित अवशोषण। गतिविधि (Activity):- शराब का उपयोग: जीआई चिड़चिड़ापन और रक्तस्राव का खतरा बढ़ जाता है।

संदर्भ - References

dailymed.nlm.nih.gov, medlineplus.gov,

About Reviewer

Dr. Naresh Dang is an MD in Internal Medicine. He has special interest in the field of Diabetes, and has over two decades of professional experience in his chosen field of specialty. Dr. Dang is an expert in the managememnt of Diabetes, Hypertension and Lipids. He also provides consultation for Life Style Management.

About Reviewer

Sonu Kumar is a registered pharmacist with Bihar State Pharmacy Council with over 6 months experience. He is a medicine content contributor at Zotezo.

ZOTEZO IN THE NEWS

...