पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के फायदे और नुक्सान – Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

Patanjali-Shilajit-Ke-Fayde-Aur-Nuksan

Table of Contents

उपक्षेप – Introduction

क्या आप पतंजलि शिलाजीत के बारे में जानना चाहते है? तो आप सही पेज पर है।

पतंजलि एक प्रसिद्ध ब्रांड है और हर कोई इस ब्रांड के बारे में जानता है। इसलिए पतंजलि शिलाजीत के बारे में जानना बहुत स्वाभाविक है। इन दिनों यौन समस्याएं होना बहुत आम है। इसकी वजह है हमारी अस्वास्थ्यकर जीवनशैली और तेजी से बढ़ती उम्र।

शिलाजीत एक प्राचीन जड़ी बूटी है जिसे पारंपरिक रूप से यौन शक्ति बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। और, इसका उपयोग यौन गतिविधियों के लिए सहनशक्ति बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल शिलाजीत से बनाया जाता है। यह प्रतिरक्षा बढ़ाने और पुरुषों और महिलाओं दोनों में उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद करता है।

आइए हम समझते हैं कि वास्तव में पतंजलि शिलाजीत क्या है और पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के फायदे और नुक्सान।

Patanjali Shilajit ke Fayde aur nuksan

शिलाजीत कैप्सूल के फायदे – Patanjali Shilajit Benefits in Hindi

1. पुरुष प्रजनन क्षमता और टेस्टोस्टेरोन बढ़ाता है
2. अल्जाइमर रोग ठीक करता है
3. अत्यंत थकावट कम करता है
4. महिलाओं का स्वास्थ ठीक करता है
5. उम्र बढ़ने की प्रक्रिया रोकता है
6. एंटीऑक्सिडेंट पावर वृद्धि करता है

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल क्या है – What is Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

पतंजलि शिलाजीत पुरुषों और महिलाओं में सामान्य शारीरिक कमजोरी के लिए एक उत्कृष्ट हर्बल उपचार है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल पुरुषों और महिलाओं में सामान्य शारीरिक कमजोरी के लिए एक उत्कृष्ट हर्बल उपचार है। प्राथमिक घटक ओड पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल शिलाजीत है। पुरुषों में बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए शिलाजीत कैप्सूल सबसे अच्छा ज्ञात हर्बल सप्लीमेंट है। महिलाओं में, शिलाजीत टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने और प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए जाना जाता है।

पुरुषों और महिलाओं दोनों में, यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है ताकि आप लंबे समय तक युवा दिखें। और यदि कोई स्वस्थ व्यक्ति निर्धारित विधि के साथ इसका उपयोग करता है, तो उन्हें निर्बाध शक्ति, ऊर्जा, शक्ति, चमक और आभा मिलती है। आइए देखते हैं कि पतंजलि शिलाजीत के बारे में आपको क्या जानना चाहिए।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल कैसे काम करती है – How Does Patanjali Shilajit Capsule Work in Hindi

हम सभी जानते हैं कि पतंजलि शिलाजीत ताकत और शक्ति के लिए अच्छा है। अब देखते हैं कि इस कैप्सूल में शिलाजीत पुरुषों और महिलाओं दोनों के शरीर पर कैसे काम करता है।

शिलाजीत चयापचय में मदद करता है और शरीर में ऊर्जा का उत्पादन बढ़ाता है। यह अपचय और उपचय में संतुलन भी बनाए रखता है। यह रक्त के निर्माण और शरीर के अंगों के कामकाज में भी मदद करता है। पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल बुखार, सामान्य कमजोरी, भूख कम लगना जैसे लक्षणों से राहत देने में मदद करता है।

पतंजलि के शिलाजीत कैप्सूल का मुख्य घटक प्राकृतिक शिलाजीत है। यह बिल्कुल शुद्ध होने का दावा है। जो हमारे इम्यून सिस्टम को स्वस्थ रखने और बढ़ती उम्र के असर को कम करने के लिए उपयोगी है। पुरुष और महिला दोनों अपनी शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए उपयोग कर सकते हैं। प्राचीन काल में, शिलाजीत आयुर्वेदिक उपचार था जिसे पुराने समय में लोग संभोग से पहले सेवन करते थे। ऐसा माना जाता है कि शिलाजीत का सेवन करने से आपको संभोग करने के लिए अधिक ऊर्जा मिलती है।

पतंजलि शिलाजीत के फायदे – Benefits of Patanjali Shilajit in Hindi

पतंजलि शिलाजीत के फायदे अनेक है।  आइये देखते है इसके फायदों के बारे में।

1. पुरुष प्रजनन क्षमता और टेस्टोस्टेरोन

टेस्टोस्टेरोन एक प्राथमिक पुरुष सेक्स हार्मोन है, लेकिन कुछ पुरुषों में शुद्ध शिलाजीत के अन्य दैनिक पूरक की तुलना में निम्न स्तर होता है, एक आयुर्वेदिक घटक स्वस्थ पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को 20% तक बढ़ा सकता है। यह पुरुषों में शुक्राणुजनन, टेस्टोस्टेरोन के स्तर और शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में मदद करता है। कम टेस्टोस्टेरोन के लक्षणों में शामिल हैं:

  • एक कम सेक्स ड्राइव
  • बाल झड़ना
  • मांसपेशियों का नुकसान
  • थकान
  • शरीर में वसा में वृद्धि

2. अल्जाइमर रोग

अल्जाइमर रोग एक प्रगतिशील मस्तिष्क विकार है जो स्मृति, व्यवहार और सोचने की क्षमता के साथ समस्याओं का कारण बनता है। शिलाजीत में पाए जाने वाले कई यौगिक मस्तिष्क क्रिया के लिए सहायक हो सकते हैं, और अल्जाइमर चिकित्सा में भी सहायता कर सकते हैं।

3. अत्यंत थकावट

यह एस सिंड्रोम है जो थकान का कारण बनता है। आप उचित नींद के बाद भी दिन भर चिढ़ और थका हुआ महसूस करते हैं। शिलाजीत शरीर में कोशिका कार्यों को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है, जिसका अर्थ है कि यह थकान को कम कर सकता है और स्वाभाविक रूप से ऊर्जा के स्तर को बढ़ा सकता है।

4. महिलाओं का स्वास्थ

शिलाजीत मासिक धर्म को नियमित करने और मासिक धर्म के दर्द और ऐंठन को कम करने के लिए महिला प्रजनन समारोह के स्तर को सामान्य करने में मदद करता है। चूँकि इसमें कायाकल्प गुण होते हैं इसलिए यह शरीर के ऊर्जा स्तर को बढ़ाने के पूरक के रूप में कार्य करता है। महिला प्रजनन क्षमता एक महिला की एक बच्चे को गर्भ धारण करने की क्षमता है। शिलाजीत का इस्तेमाल भारत में सदियों से जोड़ों और बांझ महिलाओं की मदद के लिए किया जाता रहा है।

5. उम्र बढ़ने की प्रक्रिया

सदा जवान दिखना हर किसी का पवित्र कंठ है। प्रक्रिया की उम्र बढ़ने में हमारी त्वचा और हड्डियों में पाए जाने वाले प्रोटीन का टूटना शामिल है- जिसे “कोलेजन” कहा जाता है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि शिलाजीत लेने वाले लोगों में कोलेजन में वृद्धि देखी गई जो उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देती है। यह ठीक लाइनों और झुर्रियों को भी कम करता है जो पुरुषों और महिलाओं दोनों में उम्र बढ़ने के पहले लक्षण हैं।

6. एंटीऑक्सिडेंट पावर

प्राकृतिक शिलाजीत एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट है। चाहे आप धूम्रपान करते हों या वायु प्रदूषण, विकिरण और पराबैंगनी किरणों के संपर्क में हों, आप अपने शरीर में हानिकारक अणुओं के लिए बाध्य हैं। ये मुक्त कणों के रूप में जाने जाते हैं जो हमारे शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं और बीमारियों का कारण बन सकते हैं। फुल्विक एसिड जो शिलाजीत का मुख्य घटक है जो इन मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करता है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की सामग्री – Patanjali Shilajit Capsule Ingredients in Hindi

अश्वगंधा (Withania somnifera) का अर्क – 200 मिलीग्राम

एस्फाल्टम (शिलाजीत) का सूखा अर्क – 390 मिलीग्राम

इंडियन गोजबेरी / आंवला (Phyllanthus Emblica) – 50 मिलीग्राम

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के नुक्सान – Patanjali Shilajit Capsule Side Effects in Hindi

According to research, there are no dangerous side effects of the Patanjali Shilajit Capsule. But some common side effects that can happen are:

  • खट्टी डकार
  • अम्ल प्रतिवाह
  • जलन का अहसास
  • घबराहट
  • कम रक्त दबाव
  • उल्टी या मतली
  • सिरदर्द या बदन दर्द
  • पेशाब में जलन

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का सेवन कौन कर सकता है – Who Can Take Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

  • उच्च रक्तचाप से पीड़ित रोगियों को इस दवा को कम खुराक में लेना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओं को इस दवा का उपयोग करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी जाती है। चूंकि गर्भवती महिलाओं के लिए इस कैप्सूल की सुरक्षा का पूरी तरह से अध्ययन नहीं किया गया है।
  • स्तनपान कराने वाली माताओं पतंजलि शिलाजीत का उपयोग कर सकती हैं यदि डॉक्टर द्वारा सलाह दी जाए।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की खुराक – Dosage of Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की खुराक कई कारकों जैसे कि ऊंचाई, वजन, उम्र, लिंग और समस्या की गंभीरता पर निर्भर करती है। हालांकि, निर्दिष्ट सामान्य खुराक गुनगुने पानी या दूध के साथ दिन में दो बार 1 – 2 कैप्सूल है। यह कैप्सूल भोजन के बाद हमेशा लेना चाहिए।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की सावधानियां – Precautions for Taking Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

  • पतंजलि शिलाजीत का उपयोग करने वाले लोगों को संतुलित और पौष्टिक आहार का सेवन करने की सलाह दी जाती है जिसमें फल और सब्जियाँ शामिल हों।
  • नियमित व्यायाम जैसे चलने या योग करने की सलाह दी जाती है।
  • आपको शराब, चाय, और कॉफी के सेवन से बचना चाहिए।
  • शरीर से हानिकारक रसायनों और विषाक्त पदार्थों को खत्म करने के लिए आपको बहुत सारे तरल पदार्थ पीने चाहिए।

तंजलि शिलाजीत कैप्सूल के अन्य विकल्प – Substitutes of Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

क्रम संख्यापतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के अन्य विकल्पअभी खरीदें
1Dabur Shilajit Gold 20 Capsulesखरीदें
2Nutriherbs Shilajeet Extracts 800 mg 90 Capsulesखरीदें
3Health first Shilajit Extracts 800 Mg 60 Capsulesखरीदें
4Zandu Vigorex Gold Ayurvedic Daily Energizer – 20 Capsulesखरीदें
5Veda Pure Naturals Raw Shilajit 50% Fulvic Acid 90 Capsulesखरीदें

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न – Frequently Asked Questions About Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

1. पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल को दिन में कितनी बार लेने की आवश्यकता है?

Ans: आप पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का उपयोग दिन में दो बार कर सकते हैं। खुराक आपकी चिकित्सा स्थिति या उम्र पर निर्भर करती है। डॉक्टर से सलाह ज़रूर करें कि पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल आपके लिए कितना उपयुक्त है।

2. पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का सेवन करने का सही समय कौन सा है?

Ans:भोजन के बाद पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल लेना अधिक प्रभावी है। फिर भी आप पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

3.क्या पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल को लेना एकदम से रोका जा सकता है या इसे धीरे धीरे लेना रोकना चाहिए?

Ans: यदि आप अचानक इन दवाओं को लेना बंद कर देते हैं, तो इसका विपरीत प्रभाव हो सकता है। पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल को रोकने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

4. पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का उपयोग कितने समय तक किया जा सकता है?

Ans: किसी भी स्थिति में सुधार के लिए पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का दो सप्ताह तक उपयोग करना आवश्यक है। पर हर इंसान की मेडिकल ज़रूरत अलग होती है, तो पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।

5. क्या बच्चों में पतंजलि शिलाजीत हो सकती है?

Ans: शिलाजीत एक बहुत ही गुणकारी और शक्तिशाली पदार्थ है। चूंकि पतंजलि शिलाजीत मुख्य रूप से बनता है इसलिए हम इसे बच्चों के लिए नहीं सुझाते हैं।

Also Read: Japani Tel Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi

निष्कर्ष – Conclusion

हमे पूर्ण रूप से विश्वास है की इस लेख से आपको पतंजलि शिलाजीत के फायदे और नुकसान के बारे में उपयुक्त जानकारी प्राप्त हो गयी है।  आप आपको पता है की शिलाजीत आपके सेहत के लिए कितनी फायदेमंद है।

क्या इस लेख में दी गई जानकारी आपको उचित लगी? अगर आपको ये लेख पसंद आया है तो हमें निचे अनुभाग में बताना न भूले।

Team Zotezo
We are a team of experienced content writers, and relevant subject matters experts. Our purpose is to provide trustworthy information about health, beauty, fitness, and wellness related topics. With us unravel chances to switch to a balanced lifestyle which enables people to live better!
Dr. Ashok Kumar Dubey, Sexologist
Dr. Ashok Kumar Dubey is a practicing Ayurvedic Physician and an Ayurvedic Sexologist with an experience of 19 years. He is located in Varanasi. Dr. Ashok Kumar Dubey practices at the Suman Ayurvedic Clinic in Varanasi. The Suman Ayurvedic Clinic is situated at #98, Mahamana Puri Colony ITI Varanasi BHU, Karaundhi, Varanasi. He pursued his BAMS in the year 2000 from Kameshwar Singh Darbhanga Sanskrit University, Bihar.

प्रातिक्रिया दे

ZOTEZO IN THE NEWS

...